https://saraswatishishumandir.com/wp-content/uploads/2017/07/slide11.jpg
https://saraswatishishumandir.com/wp-content/uploads/2017/07/slide3.jpg
https://saraswatishishumandir.com/wp-content/uploads/2017/07/slide2.jpg

सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय की वेबसाइट में स्वागत है । हम आशा करते है कि आप अपनी इच्छित सारी सूचनाएॅं इससे पा सकेंगे और यह कि यह वेबसाइट हमारे अद्भुत विद्यालय के जीवन के बारे में एक अंतर्ज्ञान प्रदान करेगा । हम सरस्वती शिशु मंदिर के रूप में श्रेष्ठता की प्रतिबद्धता सहित स्तरीय शिक्षा के क्षेत्र में विस्तृत हित रखते हैं । लक्ष्मीपुर में हमारा पहला विद्यालय जो 1969 में प्रारंभ हुआ 48 वर्षों की अवधि में विकसित और शाखान्वित हुआ ।

सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय वस्तुतः एक खोज का स्थान है । हमारा लक्ष्य सारे बालकों के प्रतिभाओं के विकास उनकी क्षमता तक पहुॅंचने और हमारे साथ उनके बिताए समय को खुशहाल बनाना है । हम उच्चतम गुणवत्ता वाले अधिगम को विद्यालय में प्रदान करने हेतु लगातार परिश्रम करते हैं । एक शिक्षण विद्यालय के रूप में हम समानता शिक्षणात्मक विद्यालय संगठन के माध्यम से प्रशिक्षण और सहारा प्रदान करने में सौभाग्यशाली हैं ।

साल दर साल विद्यालय ने साक्षरता और बुनियादी अंक ज्ञान के क्षेत्र में उपलब्धियों के उच्च स्तर को अर्जित किया है । पठन, लेखन और गणित के क्षेत्र में राष्ट्रीय अपेक्षाओं पर खरा उतरकर बालक विद्यालय छोड़ते हैं । हमारे क्रियाकलाप अनुभवों और अवसरों के एक विस्तृत क्षेत्र को प्रदान करते हुए उत्कृष्ट हैं । बालक विषयक प्रकरणों के माध्यम से उनकी साक्षरता, बुनियादी अंकज्ञान और आई0सी0टी0 कौशलों का अनुप्रयोग सीखते हैं ।

हमारे पास भवन स्थल पर शिक्षित विशेषज्ञ हैं जो पूरे विद्यालय में उच्च श्रेणी की शारीरिक शिक्षा (पी0ई0) का अध्यापन करते हैं । हमारी विद्यालय पश्चात्ग तिविधियॉं भी शारीरिक और रचनात्मक अनुभवों के एक विस्तृत क्षेत्र को प्रदान करते हैं ।

हमारे पाठ्यक्रम

प्रातःकालीन सभा

प्रातःकालीन सभा प्रातःकालीन सभा प्रतिदिन सुबह कुछ मिनट सभा के लिए बिताए जाते है और विद्यार्थी क्रम से उस दिन का विचार और साथ ही साथ दिन के महत्वपूर्ण समाचारों को बोलते हैं।

विद्यालय पत्रिका

विद्यालय पत्रिका ‘देवपुत्र‘ परिचालन में है जो संपूर्ण विद्यालय के विद्यार्थियों और शिक्षकों की लाक्षणिक विशेषताओं को प्रकट करता है ।

पुस्तकालय और प्रयोगशालाएॅं

पुस्तकालय विद्यार्थियों को पुस्तकें, समाचार पत्र और पत्रिकाएॅं पढ़ने के लिए आमंत्रित करता है । यह लगभग सभी प्रकार के और सभी विषयों के पुस्तकों का भडारगृह है ।

त्यौहार और उत्सव

जहॉं तक त्यौहारों का संबंध है, विद्यार्थी सारे राष्ट्रीय त्यौहारों जैसे  गांधी जयंती, स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस, शिक्षक दिवस, गुरू नानक जयंती और इसी प्रकार के अन्य त्यौहार महान उत्साह से मनाते हैं ।

बौद्धिक क्रियाकलाप

ये प्रतियोगिताओं यथा भाषण, उच्चारण, कहानी वाचन, हस्तलेख, मेंहदी ये प्रतियोगिताओं यथा भाषण, उच्चारण, कहानी वाचन, हस्तलेख, मेंहदीमॉंड़, गणित प्रश्नमंत्र, विज्ञान प्रश्नमंत्र और अन्य इसी प्रकार के क्षेत्र सहित सार्थकरूप से संगठित किए जाते है।

खेलकूद

खेलकूद हमारे विद्यालय में प्रोत्साहित किया जाता है । श्रेष्ठ खेलकूद खेलकूद हमारे विद्यालय में प्रोत्साहित किया जाता है । श्रेष्ठ खेलकूद सुविधाओं और विविध खेल विधाओं में  समर्पित प्रशिक्षकों ने विद्यालय  खेलदल का निर्माण्ध किया है ।

पालको के विचार

सामान्य प्रश्न

कक्षा नर्सरी में प्रवेश करने वाले बच्चे  की उम्र  1 अप्रैल को 2 वर्ष 9 माह साल  होना चाहिए,  जिस साल प्रवेश की मांग की गई है।

पंजीकरण प्रवेश के लिए एक पूर्व शर्त है। आमतौर पर बच्चों को जून महीने में प्रवेश के लिए पंजीकृत किया जाता है।

वरिष्ठ माध्यमिक स्तर पर प्रस्तुत पाठ्यक्रमों की शाखाये गणित, जैव, वाणिज्य|

  • प्री-के.जी :   7:50 ए.एम.-12: 00 पी.एम.
    कक्षा 1-12:  10:50 ए.एम.- 5: 00 पी.एम.

Recent News

Notices and Activities
06
Sep
सरस्वती शिशु मंदिर की 12  छात्राओं ने जीता स्वर्ण पदक
सरस्वती शिशु मंदिर की 12 छात्राओं ने जीता स्वर्ण पदक

सरस्वती शिशु मंदिर की 12  छात्राओं ने क्षेत्रीय खेलकूद प्रतियोगिता [...]

05
Sep
सरस्वती शिशु मंदिर समिति द्वारा शिक्षक दिवस मनाया गया एवं शिक्षको का सम्मान किया
सरस्वती शिशु मंदिर समिति द्वारा शिक्षक दिवस मनाया गया एवं शिक्षको का सम्मान किया

05
Sep
सरस्वती शिशु मंदिर समिति द्वारा शिक्षक दिवस मनाया गया
सरस्वती शिशु मंदिर समिति द्वारा शिक्षक दिवस मनाया गया

19
Aug
DAHI HANDI  in ” krishna Janmashtmi”
DAHI HANDI in ” krishna Janmashtmi”

DAHI HANDI in ” krishna Janmashtmi 15 aug